close

News

News

विकास में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिकाः मुख्यमंत्री

राज्य युवा बोर्ड की प्रथम बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि विकास प्रक्रिया में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि युवाओं को सकारात्मक दृष्टिकोण से समर्थ बनाने से न केवल उनकी भागीदारी और क्षमता विकसित होती है, बल्कि राष्ट्र के विकास में भी मद्द मिलती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें देश के बेहतरीन राज्यों की प्रथाओं को अपनाना होगा, जहां राष्ट्र पुनर्निर्माण में युवाओं की सक्रिय भागीदारी से अच्छे परिणाम सामने आए हैं। उन्होंने युवाओं, विशेषकर किशोरों से नशाखोरी के विरूद्ध लड़ाई में आगे आने का आग्रह किया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि नोडल क्लब योजना के तहत राज्य के प्रत्येक विकास खण्ड के लिए दो वर्षों के लिए एक नोडल क्लब स्वीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक क्लब को खेलों से सम्बन्धित व अन्य सांस्कृतिक उपकरणों की खरीददारी के लिए 35000 रुपये स्वीकृत किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्र और प्रदेश स्तर पर युवा महोत्सव का आयोजन युवाओं की रचनात्मक गतिविधियों में भागीदारी सुनिश्चित बनाने के उद्देश्य से किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने युवा बोर्ड की विभिन्न गतिविधियां सुनिश्चित करने के लिए बजट में पर्याप्त प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि बोर्ड की गतिविधियों में विविधता लाने के लिए सरकार इसके बजट को बढ़ाने पर विचार करेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश ने राष्ट्रीय व अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्टता हासिल की है तथा दूसरों के लिए रास्ता दिखाया है और राज्य के युवाओं को पड़ोसी राज्य के युवाओं से प्रेरणा लेनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विभिन्न खेलों में उत्कृष्टता हासिल करने वाले खिलाड़ियों का सम्मान और अन्य प्रोत्साहन सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार युवा बोर्ड को विकास की अन्य गतिविधियों में शामिल करने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य की लगभग 35 प्रतिशत जनसंख्या युवा है। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न भागों में स्टेडियमों और खेल मैदानों के निर्माण पर 26 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं।

युवा सेवा एवं खेल मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने कहा कि राष्ट्र को मजबूत और जीवंत बनाने के लिए प्रत्येक युवा को सक्षम और समर्थ बनाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही युवा नीति लाएगी, क्योंकि वर्तमान युवा नीति का निर्माण वर्ष 2002 में किया गया था। उन्होंने कहा कि युवा बोर्ड के सदस्यों को नवीन विचार सामने लाने चाहिए, जिससे बोर्ड को अधिक प्रभावी और कुशल बनाया जा सके।

सचिव युवा सेवाएं एवं खेल दिनेश मल्होत्रा ने मुख्यमंत्री तथा राज्य युवा बोर्ड के अन्य सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि बोर्ड युवाओं के कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं कार्यान्वित कर रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में लगभग 14.50 लाख विद्यार्थी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।

निदेशक युवा सेवाएं और खेल विभाग विनय सिंह ने बैठक का संचालन किया। उन्होंने कहा कि युवा बोर्ड की बैठक चार वर्षों के अन्तराल के बात आयोजित की जा रही है। उन्होंने धन्यवाद प्रस्ताव भी प्रस्तुत किया।

सचिव वित्त अक्षय सूद, संयुक्त निदेशक सुमन रावत मेहता सहित अन्य अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

read more
News

मुख्यमंत्री ने भोरंज विधानसभा क्षेत्र में समर्पित की 34 करोड़ की विकासात्मक परियोजनाएं

भोरंज में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य तथा लोक निर्माण विभाग मण्डल खोलने की घोषणा मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने हमीरपुर जिले के विधानसभा क्षेत्र भोरंज के कन्जयान में विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए भोरंज में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य तथा लोक निर्माण विभाग मण्डल खोलने की घोषणा की.

जय राम ठाकुर ने कहा कि भोरंज के लिए 90 करोड़ रुपये की जलापूर्ति योजना ब्रिक्स वित्तपोषण के लिए भेजी गई है, जो क्षेत्र की 45000 से अधिक की आवादी को लाभान्वित करेगी। उन्होंने कहा कि सीर खड्ड के तटीकरण के लिए 157 करोड़ रुपये की परियोजना केन्द्र को भेजी गई है, जो शीघ्र मंजूर हो जाएगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज उन्होंने भोरंज निर्वाचन सभा क्षेत्र के अपने एक दिवसीय प्रवास के दौरान 34 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं की आधारशिलाएं रखीं हैं अथवा लोकार्पण किए हैं। उन्होंने कहा कि इस निर्वाचन क्षेत्र का वर्ष 1990 से भाजपा द्वारा प्रतिनिधित्व किया जा रहा है और स्व. ईश्वर दास धीमान ने वर्षों तक क्षेत्र के विकास तथा कल्याण के लिए कार्य किया जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रो. प्रेम कुमार धूमल के नेतृत्व में तत्कालीन राज्य सरकार ने पंचायती राज संस्थानों में महिलाओं के लिए आरक्षण प्रदान किया था। उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों के दिली समर्थन के कारण उन्हें राज्य सरकार का नेतृत्व करने का अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इस महीने की 27 तारीख को एक वर्ष पूरा कर रही है। उन्होंने कहा कि इस अवधि के दौरान राज्य सरकार ने प्रदेश के विकास के लिए अथक प्रयास किए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के पहले ही निर्णय से प्रदेश के लगभग 1.30 वृद्धजन लाभान्वित हुए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता उनकी दिल्ली यात्राओं को लेकर काफी हो-हल्ला कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश के लिए केन्द्र से हजारों करोड़ की विकास परियोजनाएं स्वीकृत करवाने में सफल रही है.

जय राम ठाकुर ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि विपक्षी नेता उनके हैलीकॉप्टर उपयोग किए जाने पर उंगली उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि इन नेताओं के पास कोई और मुद्दा नही है और खबरों में रहने के लिए अनावश्यक मुद्दों का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह हैलीकॉप्टर का उपयोग आम आदमी के कल्याण के लिए कर रहे हैं न कि व्यक्तिगत उपयोग के लिए जैसा कि पिछली राज्य सरकार करती रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का जन मंच लोगों की शिकायतों का समाधान करने के लिए वरदान साबित हो रहा है। उन्होंने कहा कि अभी तक जन मंच के माध्यम से 20,000 शिकायतों का निवारण किया जा चुका है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार और प्रदेश के लोग भाग्यशाली हैं, जिन्हें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आशीर्वाद व स्नेह प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री हमेशा ही राज्य की विकासात्मक आवश्यकताओं के प्रति विचारशील रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के जनजातीय क्षेत्रों में असामायिक बर्फबारी के कारण लाहौल-स्पिति तथा पांगी क्षेत्रों में हजारों लोग फंस गए थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने उनके एक आग्रह पर राज्य के लिए सात हैलीकॉप्टर प्रदान किए और सभी लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार द्वारा शुरू की गई उज्ज्वला योजना में शामिल न होने वाली महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान करने के लिए गृहिणी सुविधा योजना शुरू की है.

मुख्यमंत्री ने उच्च पाठशाला बढ़ियार को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में स्तरोन्नत करने तथा जाहू में पशु औषधालय खोलने की घोषणा की। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने 2.80 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली उठाऊ जलापूर्ति योजना जखयोल चरण-2 की आधारशिला रखी। उन्होंने 3.38 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले मुंडखर-चाब-लगमानवी सम्पर्क सड़क तथा 3.10 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली कोट-जाखू सड़क के लिए भूमि पूजन किया.

जय राम ठाकुर ने 4.44 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले चेंथ खड्ड के तटीकरण की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि इससे 45 हेक्टेयर क्षेत्र का बाढ़ से संरक्षण होगा। उन्होंने भोरंज में 10.65 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले 50 बिस्तरों के अस्पताल की भी आधारशिला रखीं.

मुख्यमंत्री ने 46 लाख रुपये की लागत से नवनिर्मित पशु चिकित्सालय भवन का लोकार्पण किया। उन्होंने 5.19 करोड़ रुपये की लागत से आंशिक रूप से कवर बस्तियों के लिए निर्मित उठाऊ जलापूर्ति योजना अमान, उठाऊ जलापूर्ति योजना कछोटी, उठाऊ जलापूर्ति योजना मेहल का भी लोकार्पण किया। यह योजना क्षेत्र के 26 गांवों की लगभग 11500 की आवादी को लाभान्वित करेगी।
उन्होंने 1.47 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित राजकीय महाविद्यालय भोरंज के आवासीय भवन का उदघाटन किया। उन्होंने 2.17 करोड़ रुपये की लागत से कुन्ह खड्ड पर चेकडैम की आधारशिला भी रखी.

मुख्यमंत्री को इस अवसर पर विभिन्न सामाजिक, सांस्कृतिक व राजनीतिक संगठनों ने सम्मानित किया। मुख्यमंत्री को शक्ति देवी मेमोरियल ट्रस्ट ब्रहलाड़ी हमीरपुर के अध्यक्ष मदन लाल शर्मा ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 25000 रुपये का चेक भेंट किया.

पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि प्रदेश को मुख्यमंत्री से बहुत सारी उम्मीदें हैं और यह अच्छा संकेत है कि वर्तमान राज्य सरकार का एक वर्ष का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का पहला ही निर्णय प्रदेश के वृद्धजनों को सहायता प्रदान करने को लेकर था। सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के लिए 3267 करोड़ रुपये की बाह्य सहायता प्राप्त जलापूर्ति योजनाएं स्वीकृत करवाने में सफल रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने बिना किसी आय सीमा के वृद्धजनों की पेंशन को बढ़ाकर 1300 रुपये प्रति माह किया है और इसके लिए आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से सीर खड्ड के तटीकरण के लिए आग्रह किया ताकि क्षेत्र की बहुमूल्य कृषि भूमि को कटाव से संरक्षित किया जा सके।
सांसद अनुराग ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार एक वर्ष के छोटे से कार्यकाल के दौरान केन्द्र से करोड़ों रुपये की सहायता प्राप्त करने में कामयाब रही है। उन्होंने आम आदमी के कल्याण के लिए केन्द्र सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न विकासात्मक और कल्याणकारी योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि केन्द्र मनरेगा के अन्तर्गत देश में 48000 करोड़ रुपये खर्च कर रहा है। उन्होंने कहा कि वन-रेंक, वन-पेंशन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार का एक तोहफा है। उन्होंने राफेल मुद्दे पर देश के लोगों को गुमराह करने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को दोषी ठाहराया.

स्थानीय विधायक कमलेश कुमारी ने अपने गृह निर्वाचन क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रगतिशील राज्य के रूप में उभर रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई गृहिणी सुविधा योजना ने राज्य की महिलाओं को बड़ी राहत प्रदान की है। उन्हेंने अपने निर्वाचन क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगे भी रखीं।
उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह, विधायक नरेन्द्र ठाकुर, हिमाचल पथ परिवहन के उपाध्यक्ष विजय अग्निहोत्री, पूर्व विधायक डॉ. अनिल धीमान, जिला परिषद अध्यक्ष राकेश ठाकुर, हमीरपुर जिला भाजपा अध्यक्ष अनिल ठाकुर, उपायुक्त डॉ. रिचा वर्मा, पुलिस अधीक्षक रमन मीणा सहित अन्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे.

read more
News

Himachal Pradesh CM visits proposed heliport site near Shimla

SHIMLA: To attract high-end tourists to this hill town a heliport was proposed during the previous Congress regime somewhere near Sanjauli-Dhalli bypass. With construction work not beginning during the Congress regime, the BJP government has decided to start its construction. Chief minister Jai Ram Thakur on Friday visited the proposed site, along with senior officers of the state government.

Thakur accompanied by senior government officials inspected the proposed site at Dhalli bypass near Shimla. He has directed the tourism department to call tenders immediately for starting the construction of the heliport and complete the work within one year. He also asked the PWD to improve the condition of link road to the proposed site. The CM said that the heliport would prove to be a platform for the promotion of high-end tourism in the state.

It was in August, last year, that the then chief minister, Virbhadra Singh, while chairing a meeting of the Himachal Pradesh Tourism Development Corporation had announced the construction of the Rs 7-crore heliport in Shimla. At that time he had said that the heliport would come up on a hill plateau and would also have indoor and outdoor exits besides landing facility for private choppers.

As the state has limited air connectivity and almost negligible rail network, the state has been trying for long to promote tourism through heli service. Around seven years back, heli-taxi service was launched on January 29, 2011, from Annadale ground in Shimla that had failed miserably. Himachal Pradesh has 63 operational helipads across the state, including remote tribal areas.

read more
News

Himachal to develop fossil park through ADB funding: CM

Himachal Pradesh Chief Minister Jai Ram Thakur on Thursday said the Suketi Fossil Park in Sirmaur district will be developed through Asian Development Bank (ADB) assistance.

The government is also open to private investment for the development of the part located near Nahan town.

He was addressing a public meeting after visiting the museum and fossil park, Asia’s first, at Nagal Suketi.

He said the park, an initiative of Himachal’s first Chief Minister Y.S. Parmar, would be developed from the tourism point view and all possible help would be provided by the state government.

The fossil park displays six life-size fiberglass models of pre-historic animals whose fossils and skeletons were unearthed at the site.

Thakur said the road leading to the park would be strengthened at the earliest.

He said all efforts would be made to provide more water supply schemes in the area. He sanctioned a tubewell for Suketi village.

Area legislator and Assembly Speaker Rajeev Bindal thanked the Chief Minister for sanctioning Rs 11 crore for strengthening the road leading to the fossil park.

He said the Markenday river plays havoc in the area during the rainy season and urged for the construction of a dam on the river.

Fossil park Director Ratish Chandel said on an average 1,500 people, including researchers, visit the park daily.

read more
News

At least 29 dead in Himachal bus tragedy, CM announces compensation, PM expresses grief

Chief Minister Jai Ram Thakur has, meanwhile, ordered a high-level magistrate investigation into the accident. He also announced an ex-gratia of Rs 5 lakhs each for the family of the accident victims.

NEW DELHI: Shortly after the Kangra school bus accident that claimed lives of 29 people including 26 children, Prime Minister Narendra Modi on Monday expressed his condolences for the loss of lives.

The Prime Minister Office (PMO) took to Twitter and said, “I am deeply anguished by the loss of lives due to a bus accident in Kangra, Himachal Pradesh. My prayers and solidarity with those who lost their near and dear ones in the accident: PM @narendramodi”

At least 29 people died and several others were injured after a school bus fell into a 200-feet deep gorge in Nurpur of Himachal Pradesh’s Kangra district.

The 29 dead include 26 children, two teachers and the driver of the school bus.

The injured children have been admitted to Civil Hospital, Nurpur. The reason for the accident is being investigated.

Chief Minister Jai Ram Thakur has, meanwhile, ordered a high-level magistrate investigation into the accident. He also announced an ex-gratia of Rs 5 lakhs each for the family of the accident victims.

“I have been told that nine children died and several got injured in the incident. I have spoken with the Chief Secretary, DG and Deputy Commissioner. The NDRF has immediately been deployed. The rescue operation, with the help of locals, is underway. I have ordered a magisterial probe,” Jai Ram Thakur said.

According to preliminary information, the bus belongs to privately-run Wazir Ram Singh Pathania Memorial school. It was heading to drop the children to their respective residences after the school dissolved for the day.

read more
News

Himachal CM presents a ‘realistic’ view of 100 days

“Hundred days is too short a period to perform or evaluate the performance of any government. But we have taken some steps to give a direction to the state. The results will come in times to come.”

This was how the Bharatiya Janata Party (BJP) chief minister, Jai Ram Thakur summed up his government’s first 100 days on the new chair after he took over on 27 December, 2017 in sudden twist of political events.

Being realistic in his first formal interaction with media persons, what the government named as ‘Samwaad Sattar’ in the backdrop of ‘100 din vikas key, pragati aur vishvas key’, Jai Ram Thakur on Monday admitted that everybody has questions in mind about him and his working.

“I am in the new role. People, media and even officers are thinking that what we are up to and how we will do it? But whenever, there is a new person and new responsibility, it takes some time to settle down,” he elaborated.

“There are so many difficulties. But I am determined to cross all the hurdles.”
However, he hastened to add, “We (including ministers) have been able to handle the month long budget session of the Himachal Pradesh Assembly, effectively, which indicates our approach.”

Thakur was accompanied by few ministers, including Education minister from Shimla, Suresh Bhardwaj, apart from senior bureaucrats. He listed the achievements of his government in three months and said the budget schemes have government’s commitment to do something new.

“It’s for the first time that any budget speaks of 28 new schemes in different sectors in one go,” he said.

Thakur said no government can perform without targets. “We also set some targets in the first hundred days. We got 640 suggestions as to how to go about in different spheres, out of which we shortlisted 550 targets. We have accomplished 472 of them,” he said.

He said the government had taken some new initiatives immediately as it took over, which included the reduction in age of social security pension from 80 years to 70 years, grant of benefits due to employees and pensioners, steps on women security, a check on illegal mining, work on gau vansh and plan to mobilise funds for water supply schemes which were hanging fire for want of money.

For the first time, any government has kept Rs 100 Crore for maintenance of roads and Rs 50 Crore for promoting untouched tourist destinations. On resource mobilisation in the fund starved state, which is under the debt of over Rs 46,000 Crore, the CM said, “We are bringing new policy on mining, which will have strict provisions against illegal mining to increase revenue and we are formulating new power policy to boost hydro power agenda of Himachal that got stagnated for practical reasons over last some years,” he said. He said his government will now set the targets for six months.

read more