close
News

विकास में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिकाः मुख्यमंत्री

राज्य युवा बोर्ड की प्रथम बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि विकास प्रक्रिया में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि युवाओं को सकारात्मक दृष्टिकोण से समर्थ बनाने से न केवल उनकी भागीदारी और क्षमता विकसित होती है, बल्कि राष्ट्र के विकास में भी मद्द मिलती है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें देश के बेहतरीन राज्यों की प्रथाओं को अपनाना होगा, जहां राष्ट्र पुनर्निर्माण में युवाओं की सक्रिय भागीदारी से अच्छे परिणाम सामने आए हैं। उन्होंने युवाओं, विशेषकर किशोरों से नशाखोरी के विरूद्ध लड़ाई में आगे आने का आग्रह किया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि नोडल क्लब योजना के तहत राज्य के प्रत्येक विकास खण्ड के लिए दो वर्षों के लिए एक नोडल क्लब स्वीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक क्लब को खेलों से सम्बन्धित व अन्य सांस्कृतिक उपकरणों की खरीददारी के लिए 35000 रुपये स्वीकृत किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राष्ट्र और प्रदेश स्तर पर युवा महोत्सव का आयोजन युवाओं की रचनात्मक गतिविधियों में भागीदारी सुनिश्चित बनाने के उद्देश्य से किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने युवा बोर्ड की विभिन्न गतिविधियां सुनिश्चित करने के लिए बजट में पर्याप्त प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि बोर्ड की गतिविधियों में विविधता लाने के लिए सरकार इसके बजट को बढ़ाने पर विचार करेगी। उन्होंने कहा कि हरियाणा प्रदेश ने राष्ट्रीय व अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्टता हासिल की है तथा दूसरों के लिए रास्ता दिखाया है और राज्य के युवाओं को पड़ोसी राज्य के युवाओं से प्रेरणा लेनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विभिन्न खेलों में उत्कृष्टता हासिल करने वाले खिलाड़ियों का सम्मान और अन्य प्रोत्साहन सुनिश्चित करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार युवा बोर्ड को विकास की अन्य गतिविधियों में शामिल करने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य की लगभग 35 प्रतिशत जनसंख्या युवा है। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न भागों में स्टेडियमों और खेल मैदानों के निर्माण पर 26 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं।

युवा सेवा एवं खेल मंत्री गोविन्द सिंह ठाकुर ने कहा कि राष्ट्र को मजबूत और जीवंत बनाने के लिए प्रत्येक युवा को सक्षम और समर्थ बनाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही युवा नीति लाएगी, क्योंकि वर्तमान युवा नीति का निर्माण वर्ष 2002 में किया गया था। उन्होंने कहा कि युवा बोर्ड के सदस्यों को नवीन विचार सामने लाने चाहिए, जिससे बोर्ड को अधिक प्रभावी और कुशल बनाया जा सके।

सचिव युवा सेवाएं एवं खेल दिनेश मल्होत्रा ने मुख्यमंत्री तथा राज्य युवा बोर्ड के अन्य सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि बोर्ड युवाओं के कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं कार्यान्वित कर रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में लगभग 14.50 लाख विद्यार्थी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं।

निदेशक युवा सेवाएं और खेल विभाग विनय सिंह ने बैठक का संचालन किया। उन्होंने कहा कि युवा बोर्ड की बैठक चार वर्षों के अन्तराल के बात आयोजित की जा रही है। उन्होंने धन्यवाद प्रस्ताव भी प्रस्तुत किया।

सचिव वित्त अक्षय सूद, संयुक्त निदेशक सुमन रावत मेहता सहित अन्य अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Tags : news

Leave a Response